UP Elections 2022: 55 सीटों पर मुस्लिम वोट तय दूसरे चरण में जानें समीकरण Shocking Repot

UP Elections 2022: उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) में दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी (सोमवार) 2022 को है। 

14 फरवरी (सोमवार) 2022 को 55 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। जानकारों के मुताबिक इस फेज में मुस्लिम वोट काफी निर्णायक माने जा रहे हैं, जबकि सूबे के पिछले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का पलड़ा भारी था।

UP Elections 2022

जिन 9 जिलो में 55 सीटों पर मतदान होना है वह यह है

  • सहारनपुर (सात सीट)
  • मुरादाबाद (छह)
  • रामपुर (पांच)
  • अमरोहा (चार)
  • शाहजहांपुर (छह)
  • बिजनौर (आठ)
  •  संभल (चार)
  • बदायूं (छह)
  • बरेली (नौ)

कुछ पिछली खबरें

UP Elections 2022:- बीते चुनाव यानी कि साल 2017 की बात करें तो उस चुनाव में इन 55 सीटों पर बीजेपी के हिस्से 38, अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) को 15 और कांग्रेस को दो सीटें मिली थीं। वहीं, मायावती की बहुजन समाज पार्टी (बसपा) खाता तक नहीं खोल पाई थी

UP Elections 2022:-वहीं, साल 2019 में हुए आम चुनाव के नतीजों और प्रदर्शन पर निगाह फिराएं तो इस क्षेत्र की कुल 11 सीटों पर सपा-बसपा गठबंधन के पाले में सात सीटें गई थीं। इनमें बसपा के खाते में सहारनपुर, नगीना, बिजनौर व अमरोहा तो सपा के पास मुरादाबाद, संभल और रामपुर सीट गई थीं, जबकि बीजेपी(BJP) को चार सीटें मिली थीं

दूसरे चरण की सीटों पर मुस्लिम वोटरों का असर

दूसरे चरण की सीटों पर मुस्लिम वोटरों का असर इससे भी लगाया जा सकता है कि कुछ क्षेत्रों-सीटों पर ऐसे मतदाता 50 फीसदी से अधिक हैं। 

  •  मसलन मुरादाबाद की पांच सीटों पर 50 से 55 फीसदी मुस्लिम मतदाता
  • बिजनौर की आठ सीटों पर 40 से 50 फीसदी मुस्लिम वोटर
  •  रामपुर की पांच सीट पर 50 फीसदी वोट देने वाले
  • संभल की चार सीट
  •  मुस्लिम और यादव वोट मिलाकर 60 प्रतिशत हैं
  • बरेली में आठ सीटों पर 40 फीसदी मुस्लिम मतदाता
  • अमरोहा की चार सीटों पर 50 फीसदी मुस्लिम वोटर्स
  • बदायूं की छह सीटों पर 40 से 45 फीसदी मुस्लिम वोटर हैं
up election 2022 news
UP Elections 2022

कुछ खास बिंदु पर नजर डालते है-

मुस्लिम वोटर इस फेज के चुनाव में अहम भूमिका निभा सकता है, 

लिहाजा सियासी दलों की ओर से भी कई मुस्लिम कैंडिडेट्स को मैदान में उतारा गया है l

 सपा+ की ओर से यह आंकड़ा 20, बसपा से 23, कांग्रेस से 20 तो बीजेपी+ से एक है।

इस चुनाव में सपा, बसपा और कांग्रेस अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं। 

 ओवैसी की एआईएमआईएम भी मैदान में है। 

 सियासी जानकारों का मानना है कि मुस्लिम वोट इधर-उधर बंटेगा। 

ऐसे में इसका लाभ बीजेपी(BJP) को हो सकता है।

इसी तरहा की खबरे पढ़ने के लिए हमारे बेवसाइट से जुड़े रहे और हमारे YOUTUBE CHANNEL को Subscribe करे

youtube channel link https://www.youtube.com/channel/UCNtsM49TolymEJfdear86Cg

Leave a Reply

Your email address will not be published.